Eandhan Sakhi Yojana Uttarakhand: अब पहाड़ो पर भी पहुंचेंगे सिलेंडर ईंधन सखी योजना से मिली महिलाओ को बढ़ी राहत

Eandhan Sakhi Yojana Uttarakhand: अब पहाड़ो पर भी पहुंचेंगे सिलेंडर ईंधन सखी योजना से मिली महिलाओ को बढ़ी राहत

Eandhan Sakhi Yojana Uttarakhand: अब पहाड़ो पर भी पहुंचेंगे सिलेंडर ईंधन सखी योजना से मिली महिलाओ को बढ़ी राहत:- उत्तराखंड राज्य में पहाड़ी इलाकों में रहने वाले निवासियों को अब अपने एलपीजी सिलेंडर के लिए लंबे समय तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा सरकार ने मिनी गैस एजेंसी की शुरुआत की है जिससे इस समस्या को सुलझाने का एक नया तरीका आया है। इसका नाम है “ईंधन सखी योजना” हैं और इसमें महिलाओं को जो स्वयं सहायता समूह से जुड़ी है वहां इसका लाभ उठा सकती हैं ।

Eandhan Sakhi Yojana Uttarakhand: अब पहाड़ो पर भी पहुंचेंगे सिलेंडर ईंधन सखी योजना से मिली महिलाओ को बढ़ी राहत
Eandhan Sakhi Yojana Uttarakhand: अब पहाड़ो पर भी पहुंचेंगे सिलेंडर ईंधन सखी योजना से मिली महिलाओ को बढ़ी राहत

ईंधन सखी योजना का मुख्य उद्देश्य एलपीजी सिलेंडर का सही तरीके से पहुंचना है, इस से महिलाओं का कामकाज अधिक सुलभ और कुशल बनाना है ताकि सभी को बिना किसी तकलीफ के खाना बनाने में आसानी हो । यहां अकेले नहीं बल्कि साथ मिलकर ही हम सभी को सुरक्षित और बेहतर जीवन की दिशा में कदम बढ़ाने में मदद करेगा ।

महिलाओं को मिलेगी कमान

यह प्रोजेक्ट चार जिलों में शुरू किया गया है इसे सुविधाजनक बनाने के लिए सरकार ने एचपी कंपनी के साथ समझौता किया है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के बाद राज्य में हर घर में गैस सिलेंडर पहुंचाने का कार्य सफलतापूर्वक किया गया है ।

हालांकि पहाड़ी क्षेत्रों में निवासियों को अपने सिलेंडर को भरवाने में काफी समय लगता है और लंबी दूरी तय करनी पड़ती है। इस समस्या का समाधान करने के लिए ग्रामीण विकास विभाग ने मिनी गैस एजेंसी योजना का कार्यान्वयन किया है ।

ईंधन सखी को मिलेगी ट्रेनिंग

एचपी कंपनी का महिलाओं को एजेंसी चलाने के लिए ट्रेनिंग दे रही है। अब तक उत्तरकाशी में 40 टिहरी में 16 और हरिद्वार में 5 महिलाएं इससे कुल 61 ईंधन सखी तैयार हो चुकी हैं ।

आने वाले समय में हम अन्य तेल कंपनियों के साथ भी इसी तरह के समझौता की योजना बना रहे हैं ऐसा सरकार का कहना है मिनी गैस एजेंसी इस सुनिश्चित करेगी कि हमेशा पांच भरे हुए गैस सिलेंडर उपलब्ध रहे फ्यूल सखी को कंपनी से हर सिलेंडर पर ₹20 तक का कमीशन मिलेगा ।

इसके अलावा कंपनी बर्नर, स्टोव उनकी सेवाएं, गैस पाइप नए कनेक्शन और डीबीसी कनेक्शन के लिए कमीशन प्रदान करेंगे। हर गांव में जागरूकता को बढ़ाने के लिए ₹1000 की अलग से राशि दी जाएगी ।

अपर सचिव और ग्रामीण विकास विभाग की आयुक्त आनंद स्वरूप के अनुसार इस योजना का लक्ष्य दो उद्देश्यों को हासिल करना है। पहले इसका उद्देश्य स्वयं सहायता समूह से जुडी महिलाओं की आय में वृद्धि करना है दूसरा यह योजना दूरदराज क्षेत्र में गैस की सुविधा को बढ़ाने का उद्देश्य रखती है आने वाले समय में इसे अन्य जिलों में भी लागू किया जाएगा ।

यह भी पढ़े:

UP BC Sakhi Yojana 2023 Kya Hai in Hindi
Shubh Shakti Yojana UP
Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana Kya Hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *